GOOD-NIGHT-Hansika-Motwani-smiling-face.jpg

वो खुश दिली जो

बढ़ी जो हद से तो सारे तिलिस्म तोड़ गयी;
वो खुश दिली जो दिलों को दिलों से जोड़ गयी;
अब्द की राह पे बे-ख्वाब धड़कनों की धमक;
जो सो गए उन्हें बुझते जगो में छोड़ गयी।

Comments

comments


Leave a Reply

Your email address will not be published.

two + 8 =